Adani Group Back in Green Again stock market news today

 Adani Group Back in Green Again

पर कैसे?”

Adani Group Back in Green Again stock market news today


चलिये बताते हैं, इसलिए  इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.
कुछ समय पहले की बात है, आज से लगबाग 2.5 माह पहले जब अमेरिका स्थित निवेश शोध फर्म हिंडनबर्ग रिसर्च ( US-based investment research firm Hindenburg Research) ने अदानी ग्रुप पर काफी सारे आरोप लगाए थे – जैसे कि शेयरों में हेर-फेर, अकाउंटिंग फ्रॉड आदि…और फिर Adani Group की सभी कंपनियों का MCAP यानी की market capitalization  वांछित स्तर से काफी नीचे हो गया था…। सभी लोगों ने काफी कुछ predict किया था negatively….

लेकिन, अदाणी की सभी कंपनियां एक बार फिर ऊंची उड़ान भर रही हैं..जहां सभी स्टॉक रेड जोन में चले गए थे, वहीं अब सारे ग्रीन जोन में आ भी गए हैं, और भाग भी रहे हैं… जी हां अदानी ग्रुप के दस के दस शेयर ‘UP TRANDE’ मैं है और 3 तो upper circuit के ही नजदीक चले गए हैं…

चलिये देखते हैं ऐसा क्या स्टेप्स ले रहा है अदानी ग्रुप जिस से स्टॉक रेड जोन से ग्रीन जोन में आ गए हैं

Adani Group Step to Back in Green Again

Pre-paying loans

फरवरी से ही अदानी ग्रुप ने अपने लोन और कर्ज को Pre-pay करने की शुरुआत कर दी। जी हां, अदानी ग्रुप ने ना  सिर्फ, $500 मिलियन का ऋण चुका (ADANI GROUP LOAN REPAY) दिया है जो अनहोन अंबुजा सीमेंट के अधिग्रहण के समय लिया था, बल्कि $2.15 बिलियन भी वक्त से पहले भर दिया था जो 31 मार्च को देय था। ये ऋण, margin-linked share-backed financing था।

अपने स्टेटमेंट में कंपनी ने ये भी कहा कि कैसे महज सिर्फ 6 हफ्ते में कंपनी ने $2.65 बिलियन का Repay कर दिया है..जिससे कंपनी की liquidity साफ नजर आती है..इसके अलावा स्पॉन्सर लेवल पर access to capital भी दिखाती है। अदानी ने सभी कंपनी में से प्रमोटर प्लेजिंग (Adani Groups promoter pledging in stocks) भी काम कर दिया है…।

Raising 20,000 crore fund by selling stake – Clarification (हिस्सेदारी बेचकर जुटाया 20,000 करोड़ का फंड )

अडानी ने लंदन के फाइनेंशियल टाइम्स को लेटर देके बताया है कि कैसे अनहोने भ्रामक न्यूज प्रिंट किया है, और ये भी साफ़ किया है कि कैसे उनके दावे बेबुनियाद है…क्योंकि कंपनी ने 20,000 करोड़ shell companies से नहीं बल्कि अपने हिस्से को बेचकर किया था …ये हिस्सेदारी दो कंपनियों से बेचकर फ्रांस के Total Gas Company को दिया था…।

Low Input Gas Price

कल सभी गैस कंपनी के शेयर बढ़ रहे थे जिस्मे से एक ADANI TOTAL GAS भी था…कारण?
खैर, यूनियन कैबिनेट ने डोमेस्टिक गैस प्राइसिंग को लेकर एक नई गाइडलाइन बनाई है, जिससे करेंट प्राइस से तत्काल कटौती होने की पूरी संभावना है…जी हां मिनिस्ट्री ने बताया की अब प्राइसिंग इम्पोर्टेड क्रूड प्राइसिंग के आधार पर की जाएगी और पहले के हिसाब से 6 महीने मैं नहीं बाल्की हर माहिन रिवाइज किया जाएगा इंडियन क्रूड बास्केट के 10% पर। 
अभी तक प्राइसिंग वॉल्यूम-वेटेड के आधार पे होते आई है 4 gas trading hubs, Albena, Henry Hub, Russia aur National Balancing Point (UK) for a period of 12 months and with a time lag of a quarter. इसके वजह से भी अदानी टोटल गैस अप है, क्योंकि प्रॉफिट बढ़ाएंगे…
जी हां अदानी ग्रुप अब हर एंगल से अपने आप को साबित करने की कोशिश में लग गया है और अलग अलग डेटा और रीजनिंग से अपने आप को एक-एक इल्जाम से बा-इज्जत बरी  होने की स्ट्रैटेजी बना भी रहा है और दिखा भी रहा है…इसीलिए तो शायद आज अदाणी, इंडिया का लीडिंग बिजनेस हाउस है….यूनिकॉर्न्स और स्टार्ट-अप्स को भी अदानी से तो शायद आज अदाणी, इंडिया का लीडिंग बिजनेस हाउस है….यूनिकॉर्न्स और स्टार्ट-अप्स को भी अदानी से सीखना चाहिऐ की कैसे आपदा में भी उन्हें हारना नहीं चाहिए बाल्की दुगनी ताकत से फाइट-बैक करना चाहिए…..और हां, एक स्मार्ट सलाह, सरकार से अच्छे संबंध रखने में ही बिजनेसमैन की भलाई है, जो कि जरूरत पड़ने पर जरूर काम आती है…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top